This Child Become Magnetic Boy in Anger in Hindi


‘मैग्नेटिक पर्सन’ के ऊपर बॉलीवुड और हॉलीवुड, दोनों में कई सारी फिल्में बनी हैं जो लोगों के बीच काफी लोकप्रिय रही हैं। लेकिन जब ये मैग्नेटिक पावर रियल में किसी इंसान के अंदर आ जाए तो…?
होश उड़ जाएंगे ना।
बिल्कुल, इस बच्चे की क्वॉलिटी होश उड़ाने वाली ही है। इस बच्चे के बारे में इस लेख में विस्तार से जानें।

ये बच्चा तुर्की का रहने वाला है। इसे वहां सब चमत्कारी लड़का समझते हैं। इसके लिए इसे कुछ करने की जरूरत नहीं होती। ये केवल थोड़ा सा गुस्सा करता है और चमत्कार खुद होने लगता है जिसे देखकर लोग दांतों तले अंगुलियां दबा लेते हैं। इस बच्चे का नाम मेहमेत सुंबल है।

इसे भी पढ़ें- सोलर किड्स: अंधेरा होते ही काम करना बंद कर देते हैं हाथ-पैर

गुस्सा आने पर बन जाता है ‘मैग्नेटिक बॉय’  

दरअसल, जब भी मेहमेत सुंबल को गुस्सा आता है तो उसके आसपास रखी चीजें उनके शरीर से आकर खुदबखुद चिपक जाती हैं। और केवल लोहे की चीजें ही नहीं अपितु स्टील, तांबे आदि सभी तरह की चीजें मेहमेत के शरीर से चिपक जाती हैं। इस स्थिति में ये बच्चा बिल्कुल मैग्नेट की तरह लगता है।

दरअसल जब भी मेहमेत सुंबल को गुस्सा आता है, उसके शरीर का चुंबकीय प्रभाव बहुत अधिक बढ़ जाता है जिसके कारण उसके आसपास में रखी सारी धातुओं की चीजें उसके शरीर से चिपक जाती हैं।

 

औरों से अधिक है मेहमेत में चुंबकीय पावर

स्थानीय लोग बच्चे को ‘मैग्नेटिक बॉय’ कहने लगे हैं। मेहमेत सुंबल भी अपने शरीर को चुंबक मानता है। मेहमेत के पिता शुरू-शुरू में तो ये देखकर डर गए थे और इसे कोई खतरनार बीमारी मानने लगे थे। लेकिन डॉक्टर्स ने इसे किसी भी तरह की बीमारी मानने से इंकार कर दिया। डॉक्टर्स का कहना है कि मेहमेत में औरों की तुलना में अधिक मैग्नेट है जिसके कारण ऐसा होता है। ऐसे में जब मेहमेत को गुस्सा आता है तो उसकी ये पावर बढ़ जाती है और उसके शरीर में चीजें आकर चिपकने लगती हैं।

 

Read more articles on Medical miracles in Hindi

(function(d, s, id) {
var js, fjs = d.getElementsByTagName(s)[0];
if (d.getElementById(id)) return;
js = d.createElement(s); js.id = id;
js.src = “http://connect.facebook.net/en_US/sdk.js#xfbml=1&version=v2.6&appId=2392950137”;
fjs.parentNode.insertBefore(js, fjs);
}(document, ‘script’, ‘facebook-jssdk’));
!function(f,b,e,v,n,t,s){if(f.fbq)return;n=f.fbq=function(){n.callMethod?
n.callMethod.apply(n,arguments):n.queue.push(arguments)};if(!f._fbq)f._fbq=n;
n.push=n;n.loaded=!0;n.version=’2.0′;n.queue=[];t=b.createElement(e);t.async=!0;
t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e)[0];s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,
document,’script’,’https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);
fbq(‘init’, ‘1785791428324281’);
fbq(‘track’, “PageView”);
fbq(‘track’, ‘ViewContent’);
fbq(‘track’, ‘Search’);



Read The Source Article

We will be happy to hear your thoughts

Leave a Reply

My Blog